प्यारी मां

अनुपम,अतुलित, अद्भुत, तेजोमय, दैवरुप हो,,,,,,प्यारी मां
धरिणि,धात्री,दात्री,सावित्री, ममतामयी रूप हो,,,,,,,प्यारी मां
शीतल,सरल,निर्मल, उर्मिल, सुगंधित, गंध हो,,,,,,,,,प्यारी मां
अक्षयवट की सघन छांव में, जन जीवन संवारी हो,,,,प्यारी मां
धरा अवतरित कन्या से, दादी,नानी,तक,अनेक रूप हो,,,प्यारी मां
मां ने मां सम रूप बनाए, संघर्षों में शक्ति रूपा बनती हो,,,प्यारी मां
अनंतस की चाहत है, जो तुमसे है पाया, संतति में दे सकूं,वरद हस्त हो,,,,प्यारी मां
दूर भले ही होगयीं हमसे, सद अजर ,अमर,हो,,नेह कृपा प्रभु की हो,,,सबसे प्यारी मेरी मां

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *