ASMITI PARIVAR

अस्मिति अकादमी

लॉकडाउन का सबसे बड़ा वरदान
अस्मिति अकादमी का निर्माण ।
चार दीवारी में बंद ,
घरों में बैठने को थे विवश ।
बाहर जा नहीं सकते
किसी को बुला नहीं सकते ।
बाहर निकलें तो
डर संक्रामक रोग का
घर में दुबके रहें
तो मानसिक तनाव का ।
घबराई सहमी गलियों में
हुई इस संस्था से पह्चान
साधारण किंतु
इसके जीवन मंत्र हैं महान ।

सुबह -सवेरे उकड़ू बैठकर
पीना पानी
निरोगी काया की है निशानी ।
हो मंत्र जाप से दिन की शुरुआत
बना रहे वातावरण विशुद्ध -साफ़ ।

अस्मिति अकादमी ने
अपनी छत्रछाया में
अनेकों को योग से जुड़ाया ।
ओउम का उच्चारण
फिर वह आसन व प्राणायाम
और वो हँसी की गूंज
फैल जाती है प्रसन्नता की धूम।
वाह !
कितनी अच्छी दिन की शुरूआत
सभी योग गुरुओं को नमस्कार ।

भावना ने चेतना को जगाया
धीरे धीरे क़दम आगे बढ़ाया ।
बच्चों का KTK के माध्यम से
आत्मविश्वास जगाया ।
‘स्वयंमंथन ‘के माध्यम से
अपने जीवन मूल्यों से जुड़ाया ।
‘इंडियन लिटरेचर ‘के द्वारा
विचारों को
व्यक्त करने का मंच दिलाया ।
ख़ुशक़िस्मती हम सबकी
जिसने यह अजय परिवार बनाया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *