नारी

ममत्व, सहिष्णु, धात्री
दुर्गा, लक्षमी, गायत्री
सशक्ति, की प्रतिरुपा है
नारी, महिला, कोमलता के हर रुप
एक दिनी ,सम्मान नहीं,
मानो,पल पल,हर क्षण
स्नेह, भाव, अनुरूप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *